Video link AERIAL VIEW of PALITANA TIRTH

AERIAL VIEW of PALITANA TIRTH (GUJARAT) so beautiful video… must see a…गीतकार श्री रवीन्द्र जैन की आवाज में स्वरबद्ध सुंदर भक्तिगीत के साथ पालीताणा (सिद्धाचल) गिरिराज के आकाशीय दर्शन का अद्भुत नजारा… जिसे देखकर भक्त के मन में अवश्य रोमांच का अनुभव होगा…

https://youtu.be/rNPPNwmQ0ew

Advertisements
Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

news from PALITANA

PALITANA साहित्य कलारत्न आचार्य विजय यशोदेवसूरिजी महाराज के जन्म शताब्दी महोत्सव आयोजित

पालीताणा के तलेटी रोड़ स्थित साहित्य मंदिर संस्था में साहित्य कलारत्न आचार्य विजय यशोदेवसूरिजी महाराज के जन्म शताब्दी महोत्सव के उपलक्ष में दि. 11 जनवरी कोे सिद्धाचल गिरिराज पूजन का आयोजन किया गया। पूजन में जल-चंदन आदि अष्ट द्रव्यों द्वारा गिरि पूजन कर विश्व शांति की मंगलकामना की गयी।

इससे पूर्व साहित्य कलारत्न आचार्य यशोदेवसूरिजी महाराज के जन्म शताब्दी महोत्सव के उपलक्ष में गुणानुवाद सभा का भव्य आयोजन साहित्य सभागार में किया गया
प्रवचन में गणाधीश उपाध्याय मणिप्रभसागरजी महाराज के शिष्य मुनि मनीषप्रभसागरजी महाराज ने सभा में अपार श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुये कहा कि संत का जीवन पूरी समष्टि के लिए होता है। साहित्य कलारत्न आचार्य यशोदेवसूरि महाराज के जीवन मेें सरलता, मधुरता का अहसास सहज ही हो जाता था। साहित्य और कला के क्षेत्र में उनके अवदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता।
आचार्यश्री के शिष्य मुनि जयभद्रविजयजी महाराज ने कहा कि जैन संघ में साहित्य के इतिहास का कार्य गहराई से करने वाले आप थे। शिल्प कला के क्षेत्र में आपने 100 के उपरांत जिनमंदिरों के निर्माण का मार्गदर्शन देकर समाज को लाभान्वित किया। अनेक विधाओं से आपने शासन की सेवा कर जीवन सार्थक किया।

प्रवचन के आरम्भ में आचार्य जयंतसेनसूरिजी महाराज ने नवकार मंत्र और मंगलाचरण का पाठ कर विश्व शांति का संदेश देते हुये देव-गुरु वंदन किया। सभा में तीन पुस्तकों का विमोचन किया गया।
इस सभा में आचार्य जयानंदसूरिजी, आचार्य जयंतसेनसूरिजी, आचार्य अभयसेनसूरिजी, मुनि चारित्ररत्नविजयजी, मुनि मनीषप्रभसागरजी, मुनि जयभद्रविजयजी, मुनि भुवनचन्द्रजी सहित अनेक साधु-साध्वी और कनुभाई शाह, भागीरथ शर्मा आदि अनेक पुरुष व महिलाओं ने भाग लिया।
दोपहर में सिद्धचक्र महापूजन का आयोजन किया गया। जिसमें सभी आराधकों भाग लिया।
प्रेषक- भागीरथ शर्मा, मेनेजर, हरि विहार, पालीताणा

Sent from JAHAJ MANDIR

http://www.jahajmandir.org

PS : Please don’t print this Email unless you really need to – this will
preserve trees on planet earth

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

Palitana News

Palitana Pravesh गुरुदेव खरतरगच्छाधिपति श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. आदि विशाल श्रमण-श्रमणी वृंद भारत के विभिन्न प्रांतों में विचरण करते हुये 14 फरवरी 2016 को पालीताना तीर्थ में प्रवेश करेंगे।

गुरुदेव खरतरगच्छाधिपति श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. आदि विशाल श्रमण-श्रमणी वृंद भारत के विभिन्न प्रांतों में विचरण करते हुये 14 फरवरी 2016 को पालीताना तीर्थ में प्रवेश करेंगे।
यह स्मरण रहे कि पूज्यश्री खरतरगच्छ महासम्मेलन के लिये इतना उग्र व लम्बा विहार कर पालीताना पधार रहे हैं। उनकी पावन निश्रा में 1 मार्च 2016 से 12 मार्च 2016 तक सम्मेलन का आयोजन होगा।
गुरुदेवश्री विहार करते हुए ता. 8 जनवरी को मलकापुर पधारे। जहाँ श्री संघ की ओर से भव्य प्रवेश समारोह आयोजित किया गया। गुरुदेवश्री के प्रभावशाली व हृदय को छूने वाले प्रवचन को श्रवण कर श्री संघ अत्यन्त हर्षित हो उठा। मलकापुर में मंदिरमार्गी संघ व स्थानकवासी संघ ने मिलकर यह आयोजन किया।

स्थानकवासी गणेशीलालजी म. के समुदाय के पूज्य सुबाहु मुनि एवं उपप्रवर्तिनी श्री प्रतिभाकुंवरजी म. भी पधारे थे। उन्होंने पूज्यश्री के गुणगान करते हुए कहा- आज दर्शन कर हम धन्यता का अनुभव करते हैं। पूज्यश्री ने संघ एकता और मर्यादा को अपने जीवन में उतारने की प्रेरणा दी।
मलकापुर से विहार कर गुरुदेवश्री बोदवड आदि क्षेत्रों में धर्म प्रचार करते हुए ता. 11 जनवरी को जलगांव पधारे जहाँ जलगांव श्री संघ की ओर से भव्य प्रवेश सामैया कराया गया।
यह ज्ञातव्य है कि जलगांव नगर में सन् 1948 में पूज्य गुरुदेव आचार्य श्री जिनकान्तिसागरसूरीश्वरजी म. सा. के करकमलों से प्रतिष्ठा संपन्न हुई थी।
नवजीवन कार्यालय के विशाल हाँल में पूज्यश्री का प्रभावक प्रवचन हुआ। समारोह में पूजनीया माताजी म. श्री रतनमालाश्रीजी म., पू. साध्वी श्री हेमप्रज्ञाश्रीजी म., पू. साध्वी श्री प्रियस्मिताश्रीजी म. आदि 27 साधु साध्वी उपस्थित रहे।
पूज्यश्री जलगांव से विहार कर अमलनेर, नंदुरबार, सूरत होते हुए 14 फरवरी को पालीताना पधारेंगे।


Sent from JAHAJ MANDIR

http://www.jahajmandir.org

PS : Please don’t print this Email unless you really need to – this will
preserve trees on planet earth

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

Jaipur to Palitana Sangh

बैगानी परिवार जयपुर द्वारा आयोजित… श्री शत्रुंजय छ:री पालित तीर्थयात्रा भावोल्लास के संपन्न …

DSC_1472.JPG
Palitana

पूज्य पिताश्री शानुरामजी एवं माताश्री श्रीमती वीरांबाईजी के आशीर्वाद से आयोजित आदर्श नगर, जयपुर निवासी भ्राताद्वय संघवी श्री सुरेशकुमारजी, सुभाषचंदजी बैगानी परिवार द्वारा संघयात्रा का आयोजन किया गया।
DSC_1459.JPGइस तीर्थयात्रा में पूज्य गुरुदेव गणाधीश उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. के शिष्य पूज्य मुनिराज श्री मयंकप्रभसागरजी म., मुनि मेहुलप्रभसागरजी म. आदि ठाणा की निश्रा एवं साध्वीवर्या श्री दिव्यप्रभाश्रीजी म. व प्रियदर्शनाश्रीजी म. आदि ठाणा की सानिध्यता प्राप्त हुयी।

पालीताणा में संघ का विश्राम भीनमाल भवन व दक्ष विहार में हुआ। मुनि मेहुलप्रभसागरजी महाराज ने प्रवचन फरमाते हुए कहा- एक व्यक्ति गाडी में बैठकर तीर्थ यात्रा करता है। और एक व्यक्ति पैदल चल कर आज्ञा के अनुसार छह री का पालन करता हुआ तीर्थ यात्रा करता है। इन दोनों यात्राओं में बहुत अन्तर है। गाडी की यात्रा शरीर को आराम देती है। पर पैदल चलकर की जाने वाली यात्रा आत्मा को पावन करती है।

संघयात्रा ने दि. 25 दिसंबर को जयपुर से रेल द्वारा मेहसाणा के लिये प्रस्थान किया। मेहसाणा से बसों द्वारा शंखेश्वर, धोलका आदि तीर्थों की वंदना-स्पर्शना-पूजना करते हुये दि. 28 दिसंबर को सोनगढ के गुणोदय धाम से पैदल संघ के रूप में छ:री के नियमों का पालन करते हुये प्रस्थान किया।
राजेंद्र विद्याधाम, अढीद्वीप में विश्राम करते हुये इस तीर्थयात्री संघ ने दि. 30 दिसंबर को श्री शत्रुंजय तीर्थ में भव्य शोभायुक्त वरघोडा के साथ प्रवेश किया। दि. 31 दिसंबर को गिरिराज की यात्रा, मूल शिखर पर ध्वजारोहण व स्नात्र मंडप में तीर्थमाला का विधिविधान भावोल्लास के साथ हुआ।
संघ यात्रा को सफल बनाने में संघवी सचिन कुमार बैगानी, सिद्धार्थ कुमार बैगानी का पूर्ण पुरुषार्थ रहा। संघ की प्रेरणा सिरोही नि. मनोजकुमारजी बाबुमलजी हरण की रही।
संघयात्रा के दौरान प्रतिदिन उभयकालिक प्रतिक्रमण, स्नात्रपूजा, विविध महापूजन, प्रवचन, गिरिराज वधामणा आदि धर्माराधना आयोजित हुयी।
प्रेषक- भागीरथ शर्मा

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

Sangh Yatra… Jaipur to Palitana news

Sangh Yatra…

बैगानी परिवार जयपुर द्वारा आयोजित…

श्री शत्रुंजय छ:री पालित तीर्थयात्रा…

आदर्श नगर, जयपुर निवासी भ्राताद्वय श्री सुरेशकुमारजी, सुभाषचंदजी बैगानी परिवार द्वारा संघयात्रा का आयोजन किया जा रहा है।

sanghyatraयह संघयात्रा दि. 25 दिसंबर को जयपुर से रेल द्वारा मेहसाणा प्रस्थान करेगी। मेहसाणा से बसों द्वारा शंखेश्वर धोलका आदि तीर्थों की वंदना-स्पर्शना-पूजना करते हुये दि. 28 दिसंबर को सोनगढ के गुणोदय धाम से पैदल संघ के रूप में छ:री के नियमों का पालन करते हुये प्रस्थान होगा।
इस तीर्थयात्रा में पूज्य गुरुदेव गणाधीश उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. के शिष्य पूज्य मुनिराज श्री मयंकप्रभसागरजी म. आदि ठाणा की निश्रा एवं साध्वीवर्या श्री दिव्यप्रभाश्रीजी म. व प्रियदर्शनाश्रीजी म. की सानिध्यता प्राप्त होगी।
राजेंद्र विद्याधाम, अढीद्वीप में विश्राम करते हुये यह तीर्थयात्रा दि. 30 दिसंबर को श्री शत्रुंजय तीर्थ में प्रवेश करेगी। दि. 31 दिसंबर को गिरिराज की यात्रा, मूल शिखर पर ध्वजारोहण व स्नात्र मंडप में तीर्थमाला का विधिविधान होगा। बैगानी परिवार का सभी को संघ में पधारने भावभरा आमंत्रण है।

http://www.jahajmandir.org/2015/12/sangh-yatra.html

JAHAJ MANDIR
*www.jahajmandir.com

http://www.jahajmandir.org
PS : Please don’t print this Email unless you really need to – this will
preserve trees on planet earth

Sangh news.pdf

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

news in links

पूज्य गुरुदेव उपाध्याय श्री मणिप्रभसागरजी म.सा. आदि ठाणा का विहार कार्यक्रम


Palitana Sammelan 2016 imp information. पालीताना में खरतरगच्छ का साधू साध्वी श्रावक श्राविका सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। यह सम्मेलन ता. 1 मार्च 2016 से 12 मार्च 2016 तक होगा। इसमें त्रिदिवसीय खरतरगच्छ श्रावक श्राविका सम्मेलन का आयोजन किया गया है। जिसमें कुल मिलाकर 7 सत्र होंगे।

Bikaner बीकानेर में पूज्य गुरुदेव मुनि श्री मनोज्ञसागरजी म. आदि की निश्रा में उपधान तप संपन्न

Mahasamund महासमुन्द में आचार्य श्री जिनकान्तिसागरसूरीश्वरजी म.सा. की 30वीं पुण्यतिथि पुण्यतिथि मनाई गई

https://youtu.be/x0zr8GsOZI4


JAHAJ MANDIR

*www.jahajmandir.com
http://www.jahajmandir.org

PS : Please don’t print this Email unless you really need to – this will
preserve trees on planet earth

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

News From Palitana

Palitana Hari Vihar पालीताना – हरिविहार में ध्वजारोहण संपन्न

विश्व विख्यात श्री पालीताणा तीर्थ स्थित श्री जिन हरि विहार धर्मशाला के श्री आदिनाथ परमात्मा से सुशोभित मयूर मंदिर का 13वां वार्षिक ध्वजारोहण का कार्यक्रम दि. 24 नवंबर 2015 को आनन्द व उल्लास के साथ संपन्न हुआ।

Harivihar 1.pdf

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

Deepawali Pujan Vidhi – pdf

Deepawali Pujan Vidhi –

JAHAJ MANDIR

http://www.jahajmandir.org

PS : Please don’t print this Email unless you really need to – this will
preserve trees on planet earth

deepawali pujan vidhi 2015.pdf

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

Phalodi news

Phalodi Raj. फलोदी में दादा गुरुदेव का महापूजन आयोजित

प्रवचनकार मुनिराज श्री मनीषप्रभसागरजी म. ने पूजन के महात्म्य पर प्रकाश डालते हुये परमात्मा महावीर, नाकोड़ा, कापरडा, लौद्रवा, पाटन आदि तीर्थो के इतिहास पर विस्तार से जानकारी दी। साथ ही दादा गुरूदेवों के उपकारों को याद कर उनके प्रति कृतज्ञता प्रगट करते हुए श्रद्धा-समर्पण के भावों से भाव-कुसुम चढ़ाते हुए प्रार्थना की।
यह विशिष्ट महापूजन श्री खरतरगच्छ श्रीसंघ के तत्त्वावधान में स्व. रतनचन्द्रजी बच्छावत की स्मृति में आयोजित किया गया। संघ की ओर से बच्छावत परिवार की अनुमोदना की गई।
संघ-गच्छ पर, हम पर कृपा दृष्टि बनाऐ। गच्छ का विस्तार हो, आराधना-साधना में बढ़ोतरी हो इन्हीं भावों के साथ महापूजन का आयोजन किया गया।
महापूजन विधि-विधान कराने में विधिकारक श्री संजय जैन का सहयोग रहा।

http://www.jahajmandir.org

PS : Please don’t print this Email unless you really need to – this will
preserve trees on planet earth

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे

Navpad Oli Pravachan By Gurudev Maniprabhsagar ji ms

https://youtu.be/AT9F8_5BOwQ

Pravachan में प्रकाशित किया गया | टिप्पणी करे